InBlog Logo

लमहात

DATE : 2017-10-28 21:24:21
कानों में एक गूंज सी है, जिंदगी हमारी महरूम सी है।
पास आ जाओ हमारे, हो जाए सासे पूरी
जो अब तक है अधूरी।
न बनाना फासले दरमियां कभी, बीत जाएगी जिंदगी रूठने
मनाने मे यूंही। रुह बनकर मिले हो अक्स न बन जाना
कभी।
रहे महौबत सदा हमारी अमर, करते हैं अब तो पल पल
दुआ खुदा से यही।

Gunj- ek gujarish

Writer : Deepa Rani

Hello